कायर निकला सोशल मीडिया पर शेखी बघारने वाला आतंकी सबजार, एनकाउंटर में नहीं चला पाया एक भी गोली

आतंकी सबजार के आखिरी पलों की हकीकत
वो कश्मीर के भोले-भाले नौजवानों को बरगलाकर मौत के रास्ते पर ले जाता था, कमांडो सरीखी वर्दी में फोटो खिंचवाना उसका शौक था. लेकिन दहशत के खेल में बुरहान वानी का वारिस सबजार अहमद जंग-ए-मैदान में भीगी बिल्ली था. दक्षिणी कश्मीर के त्राल में सबजार के एनकाउंटर के गवाह रहे सेना सूत्रों ने जो खुलासा किया है उससे पता चलता है कि सबजार हथियार के तौर पर कलाश्निकोव राइफल के बजाए सिर्फ सोशल मीडिया का ही इस्तेमाल जानता था.
Previous
Next Post »